June 16, 2024

रिलेशनशिप टिप्स अपनाएं, पार्टनर को और करीब लाएं

प्यार में इमोशन्स कितने महत्वपूर्ण हैं, ये बात प्रेमियों को बताने की जरूरत नहीं है। जो रिश्ता लंबे समय तक चले, उनमें 2 संभावनाएं सबसे ज्यादा होती हैं। पहला यह कि कपल्स के बीच की इमोशनल बॉन्डिंग इतनी अच्छी हो जाती है कि वे एक दूसरे को अच्छी तरह समझने लगते हैं। और दूसरा कि कई बार इमोशनल बॉन्डिंग इतनी कमजोर हो जाती है कि प्यार के नाम पर सिर्फ एक दूसरे की जिम्मेदारियां उठाने का एहसान ही रिश्ता जोड़े रखता है। दूसरी वाली स्थिति शादी-शुदा जोड़ों के साथ ज्यादा देखने को मिलती है। शादी के काफी सालों बाद पति-पत्नी जब दुनियादारी में व्यस्त रहते हैं, तो एक-दूसरे को पर्याप्त समय नहीं दे पाते हैं, इसलिए उनके बीच का इमोशनल बॉन्ड घटने लगता है।

मगर इन दिनों लॉकडाउन के कारण पतियों और पत्नियों का घर से बाहर निकलना बंद है। जब दोनों लोग घर पर हैं और दोनों के पास ही एक-दूसरे के लिए अच्छा खासा समय है, तो क्यों न इस समय को अपने पार्टनर के साथ इमोशनल बॉन्डिंग को सुधारने में खर्च किया जाए? तो हम आपको बताते हैं ऐसे ही तरीके जो आपको आपके पार्टनर के ज्यादा करीब ले आएंगे।

पुरानी रोमांटिक यादों को फिर से टटोलें-बातों की शुरुआत के लिए सबसे अच्छा और आसान तरीका यह है कि आप पुरानी बातों को याद करें जब आप पहली बार मिले थे या पहले कि दिनों की कोई रोमांटिक घटना आदि। इसे अपने पार्टनर के साथ शेयर करें और उनकी तारीफ करें। इससे आप दोनों को ही एक बार ये रिकॉल करने में मदद मिलेगी कि आपका रिश्ता पहले कैसा था और आज कैसा है। यहीं से शुरुआत होगी कि आप अपने पुराने दिनों की तरह दोबारा रोमांटिक हो जाएं और जीवन को खुशियों से भर लें।

उनसे कहें थोड़ा खुल जाएं-इमोशनल बॉन्डिंग अच्छी करने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप दोनों एक दूसरे के सामने किसी तरह की झिझक या शर्म न करें। भले ही आपके बच्चे अब बड़े हो गए हों और अब आपको लगता हो कि रोमांटिक होने का वक्त निकल गया, मगर एक दूसरे के लिए आपका प्यार कम नहीं होना चाहिए। बात चाहे घर-परिवार के फैसलों की हो या रोमांस की, आपको अपने पार्टनर से हमेशा खुलकर बात करनी चाहिए। अपनी फैंटेसीज और अपने मन में उठने वाली भावनाओं को पार्टनर को बताएं और उनसे कहें कि वो भी खुलकर आपको अपने मन की बातें बताएं।

जैसे हैं, वैसे दिखें… मतलब कोई पर्दा नहीं-शादी या प्यार के समय लड़के और लड़की में प्रेमी-प्रेमिका या पति-पत्नी का रिश्ता होता है। मगर समय के साथ इसी कड़ी में तमाम नए रिश्ते जुड़ जाते हैं और व्यक्ति गंभीर होता चला जाता है। लेकिन हर किसी के अंदर वो पहले के जवानी के दिनों वाला लड़का या लड़की जिंदा रहती है। इसलिए जब आप अपने पार्टनर के सामने हों, तो वही दिखने की कोशिश करें जो आप असल में हैं। उस समय आप प्रेमी या प्रेमिका की तरह पेश आएं न कि किसी की मां, बहू और चाची की तरह। इस तरह जब आप अपने अंदर के लड़के या लड़की को खोज लेंगे, तो आपके रिश्ते को अचानक से एक स्पार्क मिल जाएगा और आपकी गाड़ी पटरी पर लौट आएगी।

फैंटेसी को सच करने का यही वक्त है-हम सभी कहानियां पढ़ते हुए, सुनते हुए और देखते हुए बड़े हुए हैं। इसके अलावा भी फिल्मों में, सीरियल्स में या वीडियोज में हम अक्सर ऐसा कुछ देखते हैं, जो हमें लगता है कि हमें भी ट्राई करना चाहिए। इसे ही फैंटेसी कहते हैं। ये सभी में होती हैं। आप में भी होंगी और आपके पार्टनर में भी। अब वक्त है इन फैंटेसी को सच करने का और इन्हें जीने का। तो अपने पार्टनर से पूछें कि उनकी फैंटेसी क्या है और उन्हें अपनी फैंटेसी बताएं। इसके बाद आप उसी के मुताबिक रोमांस करें। आप पाएंगे कि आप सालों बाद खुलकर जी रहे हैं और बहुत खुश हैं।

छोटी-छोटी बातों से मूड और समय न खराब करें-घर में रहने पर कई बार पति-पत्नी या प्रेमी-प्रेमिकाओं में छोटी-मोटी अनबन लगी ही रहती है। ऐसे समय में आपकी चालाकी और समझदारी काम आ सकती है। पार्टनर की गलती होने पर आप उन्हें चिल्लाने या गुस्सा दिखाने के बजाय आराम से और प्यार से समझाएं। अगर यही काम आपके पार्टनर करते हैं तो अपनी गलती की माफी मांग लें और हंसते हुए एक दूसरे को गले लगाकर गुस्सा खत्म करें। इससे आप दोनों को एक-दूसरे के साथ हंसी-खुशी रहने और रोमांटिक माहौल बनाए रखने का ज्यादा समय मिलेगा।

Spread the love