February 21, 2024

बच्‍चों के पेट में हो गए हैं कीड़े, खिलाएं ये चीजें और फिर देखें कमाल

हेल्‍दी फूड्स से सेहत से जुड़ी हर परेशानी का इलाज किया जा सकता है। कई बार खाद्य पदार्थ भी दवा का काम कर जाते हैं। बच्‍चों के पेट में कीड़े होने का इलाज भी फूड्स से किया जा सकता है।

बच्‍चों को पेट में कीड़े होने की शिकायत अधिक रहती है। गलत खानपान की आदतों की वजह से पेट की आंतों में कीड़े बनने लगते हैं। दवा के साथ-साथ आहार में कुछ खाद्य पदार्थों को शामिल कर के भी इस परेशानी का इलाज किया जा सकता है।

​पेट में कीड़े होने का असर

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्‍नोलोजी इंफॉरमेशन यानि एनसीबीआई के अनुसार हर साल लगभग 800 से 900 मिलियन बच्‍चे पेट में कीड़े की समस्‍या से ग्रस्‍त होते हैं। इन बच्‍चों को एनीमिया और थकान एवं सीखने में दिक्‍कत हो सकती है। कीड़े आंतों से जरूरी पोषक तत्‍व खा जाते हैं जिसका असर बच्‍चे के विकास पर पड़ता है।

इंफेक्‍शन बढ़ने पर बच्‍चे के मस्तिष्‍क के कार्य करने की क्षमता प्रभावित होती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप पहले से ही पेट में कीड़े होने की समस्‍या से बचाव करना शुरू कर दें और अपने बच्‍चे के खाने में यहां बताई गई चीजों को शामिल करें।

​लहसुन और हल्‍दी

लहसनु शरीर में मौजूद बैक्‍टीरिया और परजीवियों को खत्‍म करता है। इसमें मौजूद एलिसिन और एजोएन नामक तत्‍व बीमारियां पैदा करने वाले अमीबा को मारता है। लहसुन के नियमित सेवन से शरीर की सफाई होती है और कीड़ों की वजह से होने वाले ऑक्सीडेशन होने से बचाव मिलता है।

हल्‍दी में कैंसर-रोधी, एंटी-इंफ्लामेट्री और घाव को भरने के गुण होते हैं। यह मसाला बैक्‍टीरिया और परजीवियों को भी मारने में असरकारी है। इससे खून भी साफ होता है। आप किसी भी रूप में बच्‍चे को हल्‍दी खिला सकते हैं।

यह भी पढ़ें : बच्चे के पेट में कीड़े के ये हैं लक्षण, कुपोषण भी है वजह

​कद्दू के बीज और पपीता

कद्दू के बीजों में करक्‍यूबिटिन होता है जिसमें कीड़ों को मारने के गुण होते हैं। यह आंतों और पाचन मार्ग में मौजूद कीड़ों को नष्‍ट करने की शक्‍ति रखता है।

कीड़ों को खत्‍म करने में पपीते के बीज भी बहुत असरकारी होते हैं। पपीते के बीजों को शहद में मिलाकर बच्‍चे को खिलाएं। अगर आप बच्‍चे को पपीता खिलाना चाहते हैं, तो पहले एक दिन एप्‍पल साइडर विनेगर में इसे फर्मेंट करें और फिर खिलाएं।

यह भी पढ़ें : कहीं आपके बच्चे के पेट में कीड़े तो नहीं, पहचानें लक्षण

​नीम की पत्तियां और अदरक

नीम की पत्तियों में एंटीबैक्‍टीरियल गुण होते हैं। सुबह खाली पेट बच्‍चे को नीम की कुछ पत्तियां चबाने के लिए दें। इससे पाचन में सुधार होता है और आंतों में जमा गंदा बैक्‍टीरिया साफ होता है।

इसके अलावा अदरक से पेट में एसिड के स्‍तर में सुधार आता है जिससे कीड़े मारने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें : बेबी के पेट में हो रहा है गैस से दर्द, तो आजमाएं दादी मां का ये नुस्‍खा

​लौंग और लाल मिर्च

लाल मिर्च में एंटी-फंगल गुण होते हैं और इससे हर तरह के फंगस और कीड़ों को मारा जा सकता है। यह ब्‍लड सर्कुलेशन को भी बढ़ाती है और स्किन को पोषण देती है।

लौंग कीड़ों के अंडे और लार्वा को मारने की शक्‍ति रखती है। इसमें एगुनोल होता है जो मलेरिया, टीबी और कोलेरा के बैक्‍टीरिया को मारने में असरकारी है।

 

Spread the love