May 27, 2024

सीएम की मंशा पर खरा उतर रहा पुलिस विभाग, चिटफंड के फरार डायरेक्टर को सायबर एवं पुलिस की टीम ने हैदराबाद से पकड़ने में की सफलता हासिल, अन्य राज्यों की पुलिस को भी थी आरोपी श्रीधर की तलाश-

बालोद- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा अनुसार दुर्ग रेंज आईजी बीएन मीणा व एसपी जितेन्द्र कुमार यादव के निर्देशन पर चिटफंड कम्पनी के फरार डायरेक्टर को गिरफ्तार करने में बालोद पुलिस को मिली सफलता मिली है। ओम श्री साई बालाजी मार्केटिंग प्रायवेट लिमिटेड एवं प्रतिमा फर्म एंड स्टेट प्रायवेट लिमिटेड शाखा बालोद के डायरेक्टर जी. श्रीधर पिता गंटी बाला कामेस्वर (44 वर्ष) को हैदराबाद के कोकटपल्ली थाना से गिरफ्तार किया गया हैं। बालोद थाने के अपराध क्र 72/2020 धारा-420 भादवि धारा 10 छग नि.का संरक्षण अधिनियम की धारा 3,4,5 इनामी चिटफंड के प्रकरण में कई सालों से फरार था। सायबर सेल एवं बालोद सहित सुरेगांव थाने की टीम ने आरोपी को हैदराबाद से गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता हासिल की हैं। बताया जा रहा है की उक्त आरोपी के खिलाफ अन्य जिलो एवं अन्य राज्यों में भी अपराध दर्ज हैं। जहां की पुलिस को भी आरोपी जी.श्रीधर की तलाश थी।

पुलिस में घेराबंदी कर पकड़ा-
उल्लेखनीय हो कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा अनुसार दुर्ग रेंज आईजी बीएन मीणा व एसपी जितेन्द्र कुमार यादव के निर्देशन पर एडिशनल एसपी हरिश राठौड़ के मार्गदर्शन, एसडीओपी प्रतीक चतुर्वेदी, डीएसपी सायबर सेल राजेश बागडे के पर्यवेक्षण में चिटफंट कम्पनी के आरोपियो की पतासाजी हेतु जिले में अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें बालोद थाने के अपराध में फरार चिटफंड का आरोपी जी. श्रीधर को दिगर राज्य हैदराबाद से गिरफ्तार करने में बालोद पुलिस को सफलता मिली है। प्राप्त जानकारी अनुसार मामले का विवरण इस प्रकार है कि ग्राम ठेकवाडीह निवासी प्रार्थी नारायण साहू पिता स्व गोविन्द राम साहू द्वारा बालोद थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया गया कि ओम श्री साई बालाजी मार्केटिंग प्रायवेट लिमिटेड एवं प्रतिमा फर्म एण्ड स्टेट प्रायवेट लिमिटेड शाखा बालोद के डायरेक्टर जी. श्रीधर के द्वारा अपने कम्पनी में रकम पांच वर्षो में दोगुना करने व अधिक ब्याज देने का झांसा देकर प्रार्थी से 4 लाख रुपये जमा कराकर प्रार्थी को बाण्ड दिया। जिसमें रकम वापसी 19 मार्च 2014 लिखा हुआ दिया था। प्रार्थी के बार-बार सम्पर्क करने पर आरोपी द्वारा रकम नही वापस किया गया। जिस पर थाना बालोद में अपराध क्रमांक 72/2020 धारा -420 भादवि 3,4,5 ईनामी चिट एवं धन परिचालन स्कीम (पाबंदी) अधिनियम की धारा 10 छग निपेक्षको के हितो का सरंक्षण अधिनियम के तहत पंजीबद्ध कर विवेचना के दौरान पता चला कि आरोपी हैदराबाद का निवासी है। उसे गिरफ्तार करने पूर्व में भी टीम रवाना किया गया था। पर आरोपी का काई सुराग नही मिल पाया था। आरोपी जी.श्रीधर काफी दिनो से अपने निवास स्थान से फरार था। लुकछीप कर कही रह रहा था। तकनीकी टीम द्वारा आरोपी के संबध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सायबर सेल, लोहारा व थाना सूरेगांव से विशेष टीम तैयार कर हैदराबाद रवाना किया गया। स्थानीय भाषा के लिए टीम मे थाना लोहारा से आरक्षक आर. धर्मा राजू को सम्मिलित किया। जिसे वहां पर कार्य करने में कठिनाई न हो। टीम द्वारा वहां पहुचकर वंहा कैम्पकर मुखबीर लगाकर तकनीकी सहायता से आरोपी जहां छिपा था पता लगाकर उसे घेराबंदी कर पकडने में सफलता मिली। जिसे विधिवत गिरफ्तार कर बालोद लाया गया। प्रकरण में 1 आरोपी जोनाल गड्डा सुब्बाराव पिता बपाया और था जिसकी मृत्यु दिनांक 22 जनवरी 2022 हो गई है। जिसका मृत्यु प्रमाण पत्र प्राप्त किया गया। चिटफंड के फरार आरोपी के पतासाजी में प्रभारी थाना बालोद निरीक्षक नवीन बोरकर, निरीक्षक दिलेश्वर चंद्रवंशी प्रभारी साइबर सेल, सउनि अजीत महोबिया, आरक्षक विपिन गुप्ता, आरक्षक आकाश दुबे, आरक्षक पूरन प्रसाद देंवागन, आरक्षक मिथलेश यादव, आरक्षक धर्मा राजू, आरक्षक विकास साहू, आरक्षक भोप सिंह साहू का सराहनीय भूमिका रहा।

Spread the love