May 27, 2024

एक्शन मोड़ पर बालोद कलेक्टर, ग्रामीणों की शिकायत पर प्री.मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास हितापठार के अधीक्षक को हटाने के निर्देश-

बालोद- कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह ने अपने 2 दिवसीय दौरा कार्यक्रम के दौरान पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र यादव एवं वनमण्डलाधिकारी आयुष जैन सहित जिला प्रशासन के अन्य आला अधिकारियों के साथ जिले के अंतिम छोर में स्थित डौण्डीलोहारा और डौण्डी विकासखण्डों के विभिन्न ग्रामों का भ्रमण कर वहाॅ चल रहे विकास कार्यों की वास्तविक हालात की जानकारी ली। पहले दिन बुधवार को कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह बुधवार को डौण्डीलोहारा विकासखण्ड के ग्राम घीना, कोसमी सहित सुदूर वनंाचल के ग्राम मंगचुआ एवं हितापठार आदि गाॅवों का भ्रमण कर विकास कार्यों का जायजा लिया। सुदूर वनांचल के गाॅवों की वास्तविक हालात से रू-ब-रू होने के लिए कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, वनमण्डलाधिकारी ने जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ शासकीय प्री मैट्रिक बालक छात्रावास हितापठार में रात्रि विश्राम भी किया। इस दौरान कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, वनमण्डलाधिकारी तथा जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने छात्रावासी बच्चों के साथ भोजन भी किया। कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह ने छात्रावासी विद्यार्थियों के साथ पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ छात्रावास में मिलने वाली जरूरी सुविधाओं एवं अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी ली। कलेक्टर ने विद्यार्थियों को पूरे मनोयोग एवं अनुशासन के साथ शिक्षा अध्ययन कर अपने माता-पिता, छात्रावास का नाम रौशन करने को कहा। कलेक्टर एवं अधिकारियों ने रात्रि में ग्राम पंचायत भवन हितापठार में ग्रामीणों के साथ बैठक कर उनके माॅगों एवं समस्याओं के संबंध में जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टर डाॅ. सिंह ने ग्रामीणों की माॅग पर त्वरित कार्रवाई कर वृक्ष कटाई की अनुमति, जर्जर स्कूल आंगनबाड़ी भवन की मरम्मत के कार्य, बिजली, पेयजल, सामाजिक पेंशन आदि से संबंधित समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया। कार्यभार ग्रहण करने के तत्काल बाद जिले के अंतिम छोर पर स्थित सुदूर वनांचल के ग्रामों का भ्रमण कर कलेक्टर डाॅ. सिंह ने यह बता दिया है कि उनकी पैनी नजर समाज के अंतिम पंक्ति के व्यक्ति तथा अंतिम छोर के गावो तक है।

ग्रामीणों के समस्याओं से वाकिफ होने लगाया जनचौपाल-
कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, वनमण्डलाधिकारी एवं अधिकारियों ने छात्रावास में रात्रि विश्राम के पश्चात् सुबह हितापठार के समीपस्थ ग्राम सुंदरनगर पहुॅचकर ग्रामीणों के समस्याओं से वाकिफ होने जनचौपाल लगाया। इस दौरान ग्रामीणों ने सड़क निर्माण, पूरे समय बिजली की उपलब्धता, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, गौठान निर्माण तथा राशन दुकान खोलने की माॅग की। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए कलेक्टर ने खाद्य निरीक्षक को शासकीय उचित मूल्य की दुकान सुंदरनगर से दूर होने के कारण गाॅव में समुचित रूप से राशन की आपुर्ति सुनिश्चित करने हेतु ट्रेक्टर एवं अन्य वाहनों के माध्यम से सुंदरनगर में राशन पहुॅचाने के निर्देश दिए हैं। डाॅ. सिंह ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को सुंदरनगर में गौठान निर्माण हेतु तत्काल जमीन चिन्हित कर प्रस्ताव भेजने के निर्देश भी दिए हैं। इसके साथ ही रोजगार सहायक को सुंदरनगर में तत्काल रोजगारमूलक कार्य प्रारंभ करने के निर्देश भी दिए।

छात्रावास अधीक्षक को तत्काल हटाने के निर्देश-
इस दौरान कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक एवं अधिकारियों ने ग्राम हितापठार में जनचौपाल लगाकर ग्रामीणों की माॅगों एवं समस्याओं की जानकारी ली। ग्रामीणों ने प्री.मैट्रिक बालक आदिवासी छात्रावास एवं स्कूल, आंगनबाड़ी भवन की मरम्मत कराने, वनों की अवैध कटाई को रोकने हेतु हितापठार में वनरक्षक की स्थायी निवास सुनिश्चित कराने, मनरेगा जाॅब कार्ड निर्माण तथा सामाजिक पेंशन राशि दिलाने की माॅग की। इसके अलावा ग्रामीणों ने प्री.मैट्रिक बालक छात्रावास के अधीक्षक के कार्यों पर असंतोष व्यक्त करते हुए तत्काल उसे हटाने की माॅग की। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए कलेक्टर डाॅ. सिंह ने प्री.मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास भवन के जीर्णाेद्धार हेतु 25 लाख रूपए स्वीकृति प्रदान करने तथा सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को छात्रावास अधीक्षक को तत्काल हटाने के निर्देश भी दिए। इसके अलावा उन्होंने वनरक्षक को ग्राम हितापठार में स्थायी रूप से निवास करने के निर्देश दिए। इस दौरान डाॅ. सिंह ने 9 वर्षीय दिव्यांग बालिका मोनिका को ट्रायसायकल प्रदान किया तथा दिव्यांग लिकेश को प्रतिमाह 10 किलो निःशुल्क राशन प्रदान करने के निर्देश खाद्य निरीक्षक को दिए। कलेक्टर ने ग्राम हितापठार के दो ग्रामीण बंसती और दुर्गेश को राशनकार्ड भी प्रदान किया।

Spread the love