April 15, 2024

घेरा है सीबीआई ने, ईडी ने भी घेरा,भ्रष्टाचारी नेताओं का हुआ जेल में डेरा-रमेश सिंघानिया, सांस्कृतिक विकास मंच का 12 मार्च को हुआ होली मिलन समारोह एवं काव्य गोष्ठी संपन्न

सकती-सांस्कृतिक विकास मंच सक्ती द्वारा 12 मार्च रविवार को होली मिलन समारोह और काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें रंग-गुलाल, बैच लगा कर और टोपी पहनाकर अभ्यागतों पं.देवेंद्र अग्निहोत्री, पं.दिगंबर चौबे, रमेश सिंघानिया, चितरंजय पटेल, प्राचार्या  शालू पाहवा का स्वागत किया गया। मंच के अध्यक्ष एल.आर.
जायसवाल ने अभ्यागतों का काव्यात्मक अंदाज में परिचय कराया। कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों द्वारा भगवान श्री कृष्ण के समक्ष दीप प्रज्जवलन से हुई। दिनेश साहू, हरीश दुबे, दिलीप पटेल, पूर्णानंद गबेल, ने गीत-संगीत के माध्यम से अपनी मनोहारी प्रस्तुति दी

कवि गोष्ठी में मंच के अध्यक्ष एल.आर.जायसवाल, संरक्षक रमेश सिंघानिया, सचिव भगतराम साहू के अलावा अनीस अरमान, जी.एल.चौहान, एन.पी.गोपाल, रघुनाथ जायसवाल, रोशन पटेल, पूर्णानंद गबेल, रामप्रकाश जाफरी, निरंजन यादव, पवन पांडेय, श्याम सुंदर अग्रवाल , शुचिता साहू, मनीषा भारद्वाज, जयंती खमहारी ने अपनी प्रस्तुति दी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंचासीन अभ्यागत चितरंजय पटेल अधिवक्ता उच्च न्यायालय ने कहा कि साहित्य समाज का आईना होता है। मंच की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि मंच को समय-समय पर अपने साहित्य का प्रकाशन भी करना चाहिए। पंडित देवेंद्र अग्निहोत्री ने कहा कि समाज की पीड़ा को समाज में व्याप्त विसंगतियों को एक साहित्यकार ही सशक्त तरीके से अभिव्यक्त कर सकता है। अधिवक्ता दिगंबर चौबे ने अपने संबोधन से कवियों और साहित्यकारों का उत्साह वर्धन किया। कार्यक्रम का सफल संचालन हरीश दुबे ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में चतुर सिंह चंद्रा, तुलसी पटेल, हीरानंद साहू आदि ने सक्रिय सहयोग प्रदान किया। कार्यक्रम में अनीता यादव, अनीता सिंग रामनारायण गौतम, तपेश शर्मा के अलावा प्रभावी संख्या में महिला और पुरुष श्रोता शामिल रहे

Spread the love