June 21, 2024

बिरसा मुंडा की जयंती पर विशेष -शक्ति के सरस्वती शिशु मंदिर ने बिरसा मुंडा की जयंती पर राष्ट्रीय जनजातीय गौरव दिवस के रूप में किया आयोजन, जयंती पर आयोजित हुई विभिन्न प्रतिस्पर्धाए

सक्ती-जल, जंगल, जमीन के संरक्षण के लिए संघर्षशील रहने वाले प्रथम जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा की जयंती पर शक्ति के सरस्वती शिशु मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खराब हटा में उन्हें स्मरण करते हुए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, इस अवसर पर प्रथम स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा के जन्म दिवस 15 नवंबर को जनजाति गौरव दिवस के रूप में आयोजित किया गया,साथ ही विद्यालय के व्यवस्थापक अधिवक्ता चितरंजन पटेल ने इस अवसर पर कहा कि भारत के प्रधानमंत्री का यह निर्णय स्वागतेय है,श्री पटेल ने विद्यार्थियों के समक्ष बिरसा मुंडा के बलिदान की गाथा सुनाई

विद्यालय के सभागार में जनजातीय गौरव दिवस के उपलक्ष्य में विद्यार्थियों ने चित्रकला, रंगोली एवम् भाषण प्रतियोगिता में भाग लेकर बिरसा मुंडा के सजीव चित्र बनाए, जिसमें चित्रकला में अनुश्री महंत प्रथम, अंजना रैदास द्वितीय, अनुष्का चौहान तृतीय तो वहीं रंगोली में प्रथम डिंपल टंडन व सौम्या राठौर रही। परिणीति कास्यकार, दीपाली यादव व दिशा साहू की चित्रों को भी लोगों ने बहुत पसंद किया तथा भाषण में तृषा देवांगन की प्रस्तुति तारीफ ए काबिल रही,पश्चात् मंचीय कार्यक्रम में पूर्व माध्यमिक के भैया बहनों द्वारा प्रस्तुत आदिवासी नृत्य बिरसा रे…ने खूब वाहवाही बटोरी,कार्यक्रम का संचालन बहन मुस्कान गोयल व शशि कुशवाहा ने किया तो वहीं आभार प्रदर्शन प्राचार्य चूड़ामणि साहू ने किया। जनजातीय गौरव दिवस समारोह का शुभारभ मां सरस्वती, भारत मांता व बिरसा मुंडा के चित्र पर माल्यार्पण, दीप प्रज्वलन व दीप मंत्र के साथ हुआ जिसे गरिमामय बनाने में आचार्या सावित्री महंत, इंदू क्षत्रिय, भारती यादव, बिरिछ राम बरेठ के साथ सभी आचार्य _आचार्या का महत्वपूर्ण योगदान रहा

Spread the love