July 12, 2024

VIDEO: सीएम बघेल ने किया राज्य शासन की महत्वकांक्षी “महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ का वर्चुअल शुभारंभ, पहले चरण में बालोद जिले के 10 गौठानों में 20 करोड़ की लागत से बनाया जाएगा ग्रामीण औद्योगिक पार्क

बालोद- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री निवास रायपुर में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ का वर्चुअल शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादूर शास्त्री एवं छत्तीसगढ़ महतारी के तैलचित्र पर पुष्पअर्पित किया। बघेल ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादूर शास्त्री के योगदानों पर प्रकाश डालते हुए इन दोनो महापुरूषों को सादर नमन किया। उन्होंने कहा कि पूरा देश और मानव समाज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादूर शास्त्री का सदैव ऋणी रहेगा। बघेल ने इस योजना को छत्तीसगढ़ के ग्रामीण स्वावलंबन के लिए ऐतिहासिक एवं क्रांतिकारी योजना बताया। इस दौरान कलेक्टोरेट सभाकक्ष बालोद में आयोजित जिला स्तरीय समारोह में संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद, संजारी-बालोद की विधायक संगीता सिन्हा एवं अतिथियों ने ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ के अंतर्गत कुल 20 करोड़ रूपए के विकास कार्यों का शिलान्यास किया। उल्लेखनीय है कि बालोद जिले में रीपा योजना के अंतर्गत पहले चरण में सभी पाॅचों विकासखण्डों के 2-2 गौठान ग्रामों में 2-2 करोड़ रूपए की लागत से जिले में कुल 10 ग्रामीण औद्योगिक पार्क का निर्माण किया जाएगा। कार्यक्रम में कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र कुमार यादव, जिला पंचायत के सहकारिता एवं उद्योग समिति के सभापति मीना साहू सहित जिला पंचायत सदस्य धनेश्वरी सिन्हा, केदार देवांगन, जनपद पंचायत गुण्डरदेही की अध्यक्ष सुचित्रा हेमंत साहू, जनपद पंचायत डौण्डी के उपाध्यक्ष पूनीत राम सेन सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण व अधिकारीगण उपस्थित थे।

योजना को धरातल पर सफल क्रियान्वयन सुनिश्चित करने कुंवर ने की अपील-
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद ने कहा कि भारत की आत्मा गाॅव में बसती है। आज ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ के माध्यम से गाॅव को आत्मनिर्भर बनाने की परिकल्पना साकार होने जा रही है। निषाद ने ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ को राज्य शासन की अत्यंत महत्वाकाक्षी योजना बताते हुए इसके उद्देश्यों के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस योजना का उद्देश्य बहुत ही दूरगामी एवं व्यापक है। निषाद ने सभी जनप्रतिनिधियों को इस योजना को धरातल पर सफल क्रियान्वयन सुनिश्चित करने हेतु सक्रिय भागीदारी निभाने की अपील भी की। संजारी-बालोद की विधायक संगीता सिन्हा ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ के माध्यम से ग्रामीणों को रोजगार दिलाकर हमारे गाॅव को स्वावलंबी एवं आत्मनिर्भर बनाने का अभिनव कार्य किया जा रहा है। इस अवसर पर कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह ने ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ के महत्व एवं उद्देश्य के संबंध में जानकारी देते हुए इसके सफल क्रियान्वयन हेतु व्यवहारिक पहलुओं पर प्रकाश डाला। इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने भी रीपा योजना के सफल क्रियान्वयन हेतु अपना बहुमूल्य सुझाव दिए।

2-2 करोड़ की राशि स्वीकृत-
उल्लेखनीय है कि ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ का मूल उद्देश्य ग्रामीण गरीब परिवारों के लिए अतिरिक्त आय का साधन बनाना है। पहले चरण में प्रत्येक विकासखण्ड के 2-2 गौठान ग्रामों को ग्रामीण औद्योगिक पार्क के रूप में विकसित किया जाएगा। जिसके अंतर्गत प्रत्येक गौठानों के लिए 2-2 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृत की गई है। पहले चरण में बालोद विकासखण्ड के गौठान ग्राम बरही एवं हथौद, डौण्डी विकासखण्ड के गौठान ग्राम अरमुरकसा और अवारी, डौण्डीलोहारा विकासखण्ड के गौठान ग्राम मार्रीबंगला और नंगुटोला, गुण्डरदेही विकासखण्ड के गौठान ग्राम गब्दी और कादुल, गुरूर विकासखण्ड के गौठान ग्राम भोथली और छेड़िया में ग्रामीण औद्योगिक पार्क का निर्माण किया जाएगा।

Spread the love