April 15, 2024

राज्य की कमान संभालने के बाद 3 वर्षों के बाद पहली बार होगा मुख्यमंत्री बघेल का शक्ति आगमन

1 अप्रैल को शक्ति आ सकते है प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, शक्ति को मिल सकती है नई सौगातें

मुख्यमंत्री का रात्रि विश्राम भी संभावित है शक्ति में, सीएम के आगमन को लेकर कलेक्टर भी जुटे तैयारियों में, 23 मार्च को सुबह शक्ति के सेजस में होगा कलेक्टर का आगमन

सक्ती- छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्य की कमान संभालने के बाद लगभग 3 वर्षों के बाद पहली बार शक्ति विधानसभा क्षेत्र के अपने प्रवास पर शक्ति पहुंचेंगे, ऐसी जानकारी राजनीतिक सूत्रों से दी गई है, तथा अधिकृत रूप से अभी मुख्यमंत्री के शक्ति प्रवास को लेकर कोई जानकारी नहीं दी गई है,सूत्रों का कहना है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्य के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में अपने एक-एक दिन के दौरे एवं प्रवास कार्यक्रम के तहत 1 अप्रैल को शक्ति आएंगे,साथ ही शक्ति में रात्रि विश्राम भी होगा, तो वही मुख्यमंत्री बघेल शक्ति शहर सहित अंचल को नई सौगातें भी दे सकते हैं, तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के शक्ति आगमन को लेकर जहां कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं में भी उत्साह देखा जा रहा है, तो वहीं प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष के गृह विधानसभा मुख्यालय शक्ति में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का मुख्यमंत्री बनने के बाद प्रथम आगमन कितना भव्य एवं विशाल होगा, यह तो आने वाला समय ही बताएगा, किंतु सूत्रों की मानें तो विधानसभा अध्यक्ष के समर्थक भी मुख्यमंत्री बघेल के आगमन की तैयारियों को लेकर बैठकों के माध्यम से कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करने में जुट गए हैं, तथा यह पहला अवसर होगा जब राजनीतिक रूप से प्रदेश की राजनीति में वर्ष- 2018 में कांग्रेस की सरकार बनने से पूर्व तथा विधानसभा चुनाव के परिणामों की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल शक्ति के विधायक डॉ चरणदास महंत के गृह क्षेत्र में मुख्यमंत्री बघेल का आगमन होगा, तथा पिछले 3 वर्षों की राजनीतिक स्थिति का आकलन करें तो प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जांजगीर-चांपा जिले के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में अपने शासकीय या की राजनीतिक कार्यक्रमों में प्रवास कर चुके हैं, लेकिन शक्ति विधानसभा क्षेत्र ही आज पर्यंत तक उनकी यात्रा से कहीं न कहीं अछूता था, तथा अब 1 अप्रैल को ऐसा लग रहा है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री बघेल के शक्ति प्रवास से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में भी एक नई ऊर्जा का संचार होगा, तथा आने वाला 2023 का विधानसभा चुनाव कहीं न कहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में अपने प्रवास के माध्यम से सरकार की राजनीतिक स्थिति का भी जायजा लेना चाहते हैं, वही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आगमन को लेकर लोगों में स्थानीय रेलवे की समस्याओं के निराकरण के संबंध में भी उम्मीदें जगी हैं, लोगों का कहना है कि रेलवे का क्षेत्र भले ही केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र में है, किंतु प्रदेश के मुख्यमंत्री यदि भूपेश बघेल चाहेंगे तो शक्ति में गोंडवाना, अहमदाबाद ट्रेनों का स्टॉपेज सहित शहर के रेलवे स्टेशन में यात्रियों को प्लेटफार्म नंबर एक पर पहुंचने के लिए होने वाली दिक्कतों को देखते हुए इस समस्या का निराकरण भी कर सकते हैं, साथ ही शक्ति शहर को और भी बड़ी सौगाते मुख्यमंत्री के आगमन से मिल सकती हैं, ऐसा कयास लगाए जा रहे हैं, किंतु यह अब आने वाला समय ही बताएगा कि 1 अप्रैल को प्रदेश के मुख्यमंत्री का संभावित शक्ति प्रवास कितना क्षेत्रवासियों के लिए फायदेमंद होता है

उल्लेखित हो कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में विगत वर्षों में तत्कालीन भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने भी विधानसभा चुनाव के ठीक पूर्व विकास यात्रा के माध्यम से पूरे प्रदेश में एक वातावरण बनाने का प्रयास किया था, कहीं ना कहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में दौरा भी इसी कड़ी का एक हिस्सा बताया जा रहा है, तथा छत्तीसगढ़ प्रदेश में राजनीतिक रूप से जिस तरह से एक सशक्त विपक्ष की भूमिका में भारतीय जनता पार्टी है, तो वहीं आने वाले विधानसभा के चुनाव में भी कांग्रेस पार्टी को भी कड़ी मेहनत करनी होगी, तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने भी अपने 15 वर्षों के मुख्यमंत्री काल में ग्राम सुराज, नगर सुराज तथा विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से जनता के बीच पहुंचने का प्रयास किया था

Spread the love