July 13, 2024

एनएमडीसी -सीएसआर: आदिवासी लड़कियों ने अपना नर्सिंग कोर्स पूरा किया

हैदराबाद, 10 दिसंबर, 2021: एनएमडीसी बालिका शिक्षा योजना के 2019 और 2020 बैच की छात्राओं  ने आज हैदराबाद में अपना जी.एन.एम. और बी.एससी (नर्सिंग) प्रमाण पत्र प्राप्‍त किया । एनएमडीसी के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में हरि हर कला भवन, सिकंदराबाद में आयोजित दीक्षांत समारोह के दौरान दो बैचों के कुल 80 छात्राओं  को सम्मानित किया गया।
एनएमडीसी ने 2011-12 से  छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग की आदिवासी छात्राओं को अपोलो इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग, हैदराबाद में नर्सिंग कोर्स करने के लिए प्रायोजित करने के लिए बालिका शिक्षा योजना योजना चला रहा  है । इस योजना के तहत पिछले एक दशक से हर वर्ष  वंचित पृष्ठभूमि के 40 गरीब छात्राओं  को अपने नर्सिंग पाठ्यक्रम को पूरा करने   के लिए प्रायोजित किया जाता है।
इस पहल ने अब तक बस्तर, छत्तीसगढ़ में एनएमडीसी के प्रचालन  के आसपास रहने वाले समुदायों के सामाजिक-आर्थिक रूप से वंचित वर्गों की लगभग 400 आदिवासी छात्राओं को लाभान्वित किया है। प्रशिक्षण पूरा होने पर, इन छात्राओं  को देश भर में  अनेक राज्य सरकारों के  और कॉर्पोरेट अस्पतालों में रखा जा रहा  है। इस कार्यक्रम ने न केवल बस्तर में रहने वाली युवतियों के लिए रोल मॉडल का निर्माण किया है, बल्कि बस्तर संभाग के आकांक्षी जिलों में स्वास्थ्य सेवाओं  को बढ़ावा देने के सरकार के प्रयासों का भी समर्थन किया है।
में शिक्षा और कौशल विकास के क्षेत्र में एनएमडीसी के सीएसआर कार्यों ने  हमारे देश के सुदूरवर्ती क्षेत्रों  के  छात्राओं  के सपनों को पूरा करने के लिए  सशक्त बनाया है।
छात्राओं  के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए एनएमडीसी के अध्‍यक्ष सह प्रबंध निदेशक सुमित देब  ने कहा, “देश की स्वास्थ्य सेवाओं में शामिल होने की  जनजातीय छात्राओं की यात्रा में योगदान देना एनएमडीसी के लिए गर्व की बात है। मुझे आशा  है कि ये युवा महिलाएं अपने वरिष्ठों साथियों की भांति  अपने समुदायों में परिवर्तन का कारक बनेंगी ।

Spread the love