April 15, 2024

अविश्वास की घंटी- शक्ति जनपद अध्यक्ष के खिलाफ वर्तमान जनपद उपाध्यक्ष सहित करीब 17 सदस्यों ने 11 बिंदुओं पर आरोप लगाते हुए लगाया अविश्वास प्रस्ताव

11 नवंबर को कलेक्टर शक्ति को प्रेषित की गई अविश्वास प्रस्ताव की सूचना

शक्ति जनपद में नए कार्यकाल से ही समन्वय की कमी के चलते आरोप-प्रत्यारोप के चलते रहे हैं दौर

सक्ती-जनपद पंचायत शक्ति में वर्ष 2019 से प्रारंभ नए कार्यकाल के बाद से ही जनप्रतिनिधियों में आपस में समन्वय की कमी के चलते यहां की जनपद चर्चा में हैं, तथा कभी जनप्रतिनिधियों की अधिकारियों से नहीं बनती, तो कभी आपस में ही जनप्रतिनिधि एक दूसरे के हितों को लेकर सड़क पर लड़ते नजर आते हैं, तथा इसी तरह विगत दिनों जनपद पंचायत के ही कुछ सदस्यों ने जनपद अध्यक्ष के विरुद्ध मनमानी का आरोप लगाते हुए विरोध किया था तो वहीं आज 11 नवंबर को जनपद पंचायत शक्ति की उपाध्यक्ष ममता प्रेम पटेल सहित करीब 17 सदस्यों ने शक्ति कलेक्ट्रेट कार्यालय में जाकर जिला कलेक्टर की अनुपस्थिति में कार्यालय में ही अविश्वास प्रस्ताव की सूचना दी है

तथा जनपद पंचायत शक्ति में 24 सदस्य हैं, जिनमें 1 सदस्य की मृत्यु विगत दिनों हो गई थी, तथा अभी देखा जाए तो लगभग 23 सदस्य हैं, जिसमें से सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लगभग 18 सदस्यों ने अविश्वास की सूचना दी है, तथा जनपद पंचायत शक्ति के सदस्यों द्वारा अध्यक्ष के विरुद्ध लगाए गए अविश्वास प्रस्ताव में बताया गया है कि छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम 1993 प्रारूप नियम 3 (1) के तहत यह अविश्वास की सूचना विहित प्राधिकारी महोदय जिला कलेक्टर महोदय सक्ती को दी जा रही है

अविश्वास लगाने वाले जनपद सदस्यों के क्या है अध्यक्ष के विरुद्ध में आरोप

हम जनपद पंचायत सक्ती जिला सक्ती छ.ग. के जनपद पंचायत अध्यक्ष राजेश राठौर के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने का आशय रखते हैं- अविश्वास प्रस्ताव का आधार निम्नानुसार है

01- जनपद पंचायत की बैठक की सूचना विहित समय में सदस्यों तक नहीं पहुंचाया जाता है
02- जनपद सदस्यों के बिना सहमति के मनमाने ढंग से कार्य कराया जाना तथा सदस्यों के द्वाराजानकारी चाहने पर अभ्रदतापूर्वक व्यवहार करना
03- क्षेत्र के कार्यों में भेदभाव करना
04- क्षेत्र की जनता के हितों को शामिल नहीं करना
05- व्यापक पैमाने पर समान खरीदी में गडबडी करना एवं विकास कार्य की रकम को गबन करना
06- क्षेत्र की जनता के हितो की अनदेखी करना, जिससे क्षेत्र के अध्यक्ष के प्रति अविश्वास पैदा हो गया है
07- कार्यालय के कर्मचारियों के साथ अभ्रदता पूर्वक व्यवहार करना
08- नियमों के विरुद्ध मनमाने तरीके से दबाव पूर्वक कार्य कराना तथा शासन के विकास कार्यो में आयी रकम का भारी दुरुप्रयोग करना
09- विहित समयावधि में जनपद की बैठक नहीं करना, कार्यालय की बैठक रजिस्टर को अपने कब्जे में रखना।
10- अध्यक्ष की अनियमितता के कारण क्षेत्र में सदस्यगण एवं नागरिकों की बातों व शिकायतो का निराकरण नहीं किया जाता है। उपरोक्त कारणों से अध्यक्ष के प्रति क्षेत्र में विश्वास नहीं। रहा शासन की किसी भी सूचनाओं का विधिवत् सदस्यों को सूचित नहीं करना। अध्यक्ष का पद पर बने रहना नियमों के विपरीत होगा
11- 15 वें वित्त की राशि 2,52,00,000 रूपये के आवंटन में शासन के दिशा- निर्देशों का पालन जनपद अध्यक्ष राजेश राठौर द्वारा नहीं करने के कारण 09 सदस्यों द्वारा कलेक्टर को शिकायत कर विरोध जाताया गया, जिस पर किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं होने के कारण अविश्वास पैदा हो गया है,अध्यक्ष के खिलाफ पूर्व में भी शासन विभाग को शिकायत किया गया जिसका कोई निराकरण नहीं हुआ है

सदस्यों ने अपने ज्ञापन में कहा है कि अतः हम क्षेत्र के जनपद सदस्यों ने मिलकर जनपद पंचायत अध्यक्ष राजेश राठौर को पद से हटाने का अविश्वास प्रस्ताव की सूचना आपको प्रेषित कर रहे है। एव विधिवत कार्यवाही करते हुए राजेश राठौर को पद से हटाने की त्वरित कार्यवाही किया जाये

Spread the love