July 13, 2024

बालोद जिले के 7 हजार 938 कुपोषित नौनिहालों के थाली में सप्ताह के 5 दिन परोसा जाएगा अंडा, कुपोषण मुक्त जिला बनाने कलेक्टर की शानदार पहल, विभागीय मंत्री भेड़िया ने की जिला प्रशासन के सराहनीय प्रयासों की प्रशंसा… देखें वीडियों

बालोद- जिला प्रशासन की सराहनीय पहल सामने आई है। कुपोषण मुक्त जिला अभियान को सफल बनाने आंगनबाड़ी नौनिहालों को अब से थाली में अंडा परोसा जाएगा। जिसकी शुरुआत विभागीय मंत्री अनिला भेड़ियाँ के विधानसभा क्षेत्र से हो चुकी हैं। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान अंतर्गत एक से 6 वर्ष तक के कुपोषित बच्चों को जिला खनिज न्यास निधि से अंडा वितरण किया जाएगा। जिसका शुभारंभ सोमवार को महिला बाल विकास एवं समाज कल्याण मंत्री अनिला भेड़ियाँ के विधानसभा क्षेत्र डौंडीलोहारा के ग्राम सल्हाईटोला से किया गया। इस अवसर पर मंत्री अनिला भेंडिया ने कहा कि कुपोषण हमारे समाज के विकास के लिए बहुत बड़ी समस्या है। उन्होंने कहा कि बच्चे यदि बचपने में कुपोषण की समस्या से ग्रसित हो जाते हैं तो उनका शारीरिक, मानसिक विकास हमेशा के लिए बाधित हो जाता है। भेंडिया ने कहा कि हमारे आने वाले सुदृढ़, सक्षम एवं उज्ज्वल भविष्य के निर्माण के लिए हमारे नौनिहालों को कुपोषण की समस्या से पूरी तरह से निजात दिलाना आवश्यक है। उन्होंने इस कार्य में शतप्रतिशत सफलता के लिए समाज के सभी वर्गों के सहयोग को अत्यंत आवश्यक बताया।

सप्ताह में 5 दिन किया जाएगा उबला अण्डा प्रदान-
इस अवसर पर मंत्री भेंडिया ने जिला प्रशासन द्वारा जिले में कुपोषण मुक्ति हेतु किए जा रहे सराहनीय प्रयासों की भूरी-भूरी सराहना भी की। मंत्री भेंडिया कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थी। कार्यक्रम की अध्यक्षता जनपद अध्यक्ष बसंती दुग्गा ने किया। कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में कलेक्टर कुलदीप शर्मा, जिला पंचायत सदस्य  चन्द्रप्रभा सुधाकर एवं करिश्मा सलामे, कृषि उपज मण्डी बालोद के उपाध्यक्ष भोलाराम देशमुख, जनपद उपाध्यक्ष पुनीत सेन सहित जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. रेणुका श्रीवास्तव, पीयूष सोनी एवं अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि जिला प्रशासन के द्वारा जिला खनिज न्यास निधि से जिले के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में 01 वर्ष से 06 वर्ष तक के कुपोषित बच्चों को सप्ताह में पाॅच दिन उबला अण्डा प्रदान किया जाएगा। जिले के 7 हजार 938 कुपोषित बच्चों के थाली में अंडा परोसा जाएगा।

राज्य को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए सरकार कृतसंकल्पित- भेड़ियाँ
भेंडिया ने आगे कहा कि हमारे नौनिहाल, हमारे देश के भावी भविष्य एवं हमारे समाज रूपी शरीर के महत्वपूर्ण अंग हैं। उन्होंने कहा कि हमारा कोई भी अंग कमजोर होने से हमारा सारा शरीर कमजोर हो जाता है। उन्होंने उपस्थित सभी अभिभावकों एवं समाज के जागरूक लोगों को कुपोषण मुक्ति जैसे अभियान में सक्रीय भागीदारी सुनिश्चित करने तथा कुपोषित बच्चों को अनिवार्य रूप से पोषण पुनर्वास केन्द्रों में ले जाने की अपील भी की। इस अवसर पर  भेंडिया ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार हमारे राज्य को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए कृतसंकल्पित है। उन्होंने कुपोषण मुक्ति हेतु राज्य सरकार के द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं एवं कार्यों के संबंध में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी।

गर्भवती माताओं का पौष्टिक भोजन की थाल भेंटकर गोदभराई रस्म को किया गया पूरा-
कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा है कि राज्य का कोई भी बच्चा कुपोषित न रहे। इसी के अनुरूप जिला प्रशासन द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों के कुपोषित बच्चों को अण्डा वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ किया जा रहा है। इस अवसर पर उन्होंने कुपोषण के कारण पड़ने वाले दूष्प्रभावों के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने बच्चों के माता-पिता एवं अभिभावकों को बच्चों को आंगनबाड़ी केन्द्रों में मिलने वाले भोजन के अलावा 2-2 घंटे के अंतराल में अनिवार्य रूप से भोजन एवं अन्य खाद्य पदार्थ प्रदान करने को कहा। इस दौरान मंत्री भेंडिया एवं अतिथियों के द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित छोटे बच्चों को अण्डा एवं खीर खिलाकर अण्डा वितरण योजना का विधिवत शुभारंभ किया। इसके अलावा नन्हे-मुन्हे बच्चों को गर्म पौष्टिक भोजन खिलाकर अन्नप्रासन्न कराने के साथ-साथ गर्भवती माताओं का पौष्टिक भोजन की थाल भेंटकर उनके गोदभराई रस्म को पूरा किया गया। मंत्री  भेंडिया एवं अतिथियों के आगमन पर ग्रामीणों ने बाजे-गाजे के साथ भव्य एवं आत्मीय स्वागत किया। इस अवसर पर एसडीएम रश्मि वर्मा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी अविनाश ठाकुर एवं सरपंच नाथूराम ठाकुर सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, अधिकारी, कर्मचारीगण आदि मौजूद थे।

Spread the love