April 19, 2024

श्री बालाजी हॉस्पिटल डिलीवरी होने पर फीस के रूप में भगवान गणेश को चढ़ाने होंगे 1 किलो मोदक

रायपुर. पूरे देश में गणेश उत्सव मनाया जा रहा है. 11 दिन तक चलने वाले इस महापर्व पर राजधानी रायपुर के एक अस्पताल ने अनोखी पहल शुरू की है. जिसके तहत अस्पताल में डिलीवरी होने पर अस्पताल बतौर फीस प्रसाद में भगवान गणेश को 1 किलो मोदक प्रसाद के रूप में लेगा.
ये पहल राजधानी रायपुर के मोवा स्थित श्री बालाजी हॉस्पिटल में किया जा रहा है. अस्पताल के डॉयरेक्टर डॉ देवेंद्र नायक ने बताया कि अस्पताल में पहले से बेटी के जन्म होने पर कोई शुल्क नहीं लिया जाता है. लेकिन अब इस गणेश उत्सव में अस्पताल ने ये पहल शुरू करने का फैसला किया है. जिसमें डिलीवरी के दौरान लड़का हो या लड़की दोनो के लिए अस्पताल प्रबंधन बतौर फीस भगवान गणेश को प्रसाद के रूप में सबसे प्रिय 1 किलो मोदक लेगा. हालांकि इसमें लड़की होने पर दवाईयों का भी शुल्क अस्पताल प्रबंधन नहीं लेता है.
डेट बुक करने पर भी मरीजों को मिलेगा इस पहल का लाभ अस्पताल प्रबंधन के लिए फैसले के मुताबिक इन 11 दिनों में जिन लोगों की डिलवरी डेट है उन्हें तो ये लाभ मिलेगा ही, इसके साथ ही यदि कोई प्रेग्नेंट महिला डिलीवरी के लिए अपना नाम रजिस्ट्रेशन करवती है तो उसकी डिलवरी डेट के लिए भी वे इस पहल का लाभ ले सकती है.
यदि ऑपरेशन से डिलीवरी हुई तो ?
अब सवाल ये है कि क्या डिलीवरी ऑपरेशन से हुई तो भी अस्पताल प्रबंधन प्रसाद के रूप में 1 किलो मोदक लेगा, या ऑपरेशन का चार्ज अतिरिक्त लिया जाएगा ? तो जवाब है नहीं. यदि डिलीवरी ऑपरेशन से भी होती है तो अस्पताल फीस के रूप में भगवान गणेश को प्रसाद के रूप में 1 किलो मोदक के अतिरिक्त कोई भी शुल्क नहीं लेगा. ऑयुष्मान कार्ड से निजी अस्पताल में बंद हो गया है डिलीवरी का पैकेज निजी अस्पतालों में अब तक डिलीवरी के लिए अब तक आयुष्मान कार्ड का इस्तेमाल किया जा सकता था. लेकिन अब ये केवल शासकीय अस्पतालों के लिए रिजर्व है. यही कारण है कि लोगों को इससे परेशानी हो रही है, लेकिन अब श्री बालाजी हॉस्पिटल की इस अनोखी पहल का लाभ प्रदेश समेत पड़ोसी राज्य के लोग भी ले सकते है.

Spread the love