June 21, 2024

अदाणी फाउंडेशन द्वारा संचालित नवोदय कोचिंग के 10 बच्चों का नवोदय विद्यालय में चयन

तिल्दा – खरोरा : केंद्र सरकार की बोर्डिंग स्कूल जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रवेश परीक्षा में अदाणी फाउंडेशन के नवोदय कोचिंग के दस विद्यार्थियों ने बाजी मारी है। प्रवेश परीक्षा में इस कोचिंग संस्थान के कुल 10 बच्चों में से चार लड़कियों और छः लड़कों का चयन जवाहर नवोदय विद्यालय, माना-रायपुर में हुआ है। जवाहर नवोदय विद्यालय, माना कैंप, रायपुर का परिणाम पिछले शुक्रवार को घोषित किया गया। रायपुर एनेर्जेन लिमिटेड (आरईएल) के अदाणी फाउंडेशन द्वारा प्रतिभाशाली जरूरतमंद बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू किये गए जवाहर नवोदय कोचिंग केंद्र को आसपास के ग्राम रायखेड़ा, गैतरा, चिचोली, तराशिव, गौरखेड़ा इत्यादि सहित कुल बारह अलग-अलग ग्रामों में संचालित किया जा रहा है।

नवोदय प्रवेश परीक्षा के चयनित बच्चों में ग्राम ताराशिव से चार बच्चों जिनके नाम कुमारी शाक्षी वर्मा, कुमारी शीतल सेन, आयुष वर्मा और अर्पित हरवंश वहीं ग्राम छतौद से दो बच्चों के नाम क्रमशः कुमारी काव्या साहू, जतिन वर्मा जबकि ग्राम रायखेड़ा, गैतरा, कोनारी और गौरखेड़ा से एक-एक बच्चे क्रमशः कुमारी प्राची वर्मा, घनिष्ट वर्मा, लक्ष्मण वर्मा और कुमारी रागिनी ध्रुव का चयन हुआ।

कोचिंग केंद्रों के इतने अच्छे परिणाम से सभी गांवों में हर्ष का माहौल है साथ ही बच्चों के माता-पिता काफी खुश हैं। ग्राम गौरखेड़ा की कुमारी रागिनी ध्रुव के पिता श्री रमेश ध्रुव पेशे से किसान हैं। उन्होंने कहा कि “मैं नवोदय स्कूल में रागिनी का चयन होने पर बहुत खुश हूँ। मुझे यह विश्वास ही नहीं हो रहा कि जवाहर नवोदय विद्यालय जैसे बड़े स्कूल में अब मेरी बच्ची पढ़ेगी। इसके लिए मैं अदाणी फाउंडेशन का दिल से धन्यवाद देता हूँ।”

” मेरी ये दिली इच्छा थी की जतिन एक अच्छे स्कूल में पढ़ाई करे लेकिन मेरी गरीबी के वजह से मैं मजबूर था किन्तु आज अदाणी कंपनी के सहयोग से मेरा यह सपना अब पूरा होने जा रहा है इसके लिए मैं अदाणी कंपनी का आभारी हूँ।” यह बात जतिन वर्मा के पिता श्री ऋषि वर्मा ने कही जो की एक कंपनी में मजदूर के तौर पर कार्यरत हैं।

उल्लेखनीय है कि आरईएल, अदाणी फाउंडेशन द्वारा आस पास के 14 ग्राम पंचायतों में शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका संवर्धन और संरचना विकास के कई कार्यक्रम संचालित करता है। उत्कृष्ट शिक्षा के लिए इन नवोदय कोचिंग केंद्रों की स्थापना 10 वर्ष पूर्व तीन ग्रामों रायखेड़ा, गैतरा और चिचोली से की गई थी। जिसकी संख्या वर्ष 2021 तक बारह ग्रामों तक बढ़ायी गयी। गत वर्ष तक कुल 45 बच्चे नवोदय स्कूल में पढ़ाई कर रहें हैं जहां सभी बच्चों को कक्षा 6 वीं से 12 वीं तक निःशुल्क शिक्षा के साथ-साथ रहने और खाने की भी सुविधा मुफ्त में प्रदान की जाती है। इससे गरीब माता पिता को उनके प्रतिभाशाली बच्चों के शिक्षा की चिंता नहीं रहती है। यही नहीं जो बच्चे इस केंद्र में पढ़ाई करते हैं उनका भी उनकी कक्षा में प्रदर्शन भी उत्कृष्ट हो जाता है। इसके अलावा अभी हाल ही में इस संस्थान द्वारा युवाओं के प्रतिस्पर्धात्मक सफलता के लिए किये जा रहे प्रयासों के बदौलत कोचिंग केंद्र से दो छात्रों का चयन छत्तीसगढ़ पुलिस बल सेवा में भी हुआ है।

Spread the love