May 27, 2024

कलेक्टर डॉ. गौरव के निर्देश पर सुंदरनगर में स्वास्थ्य विभाग ने कैंप लगाकर किया ग्रामीणों व स्कूली बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण, एक महिला ग्रामीण का एचबी कम होने पर डौंडीलोहारा पीएचसी किया गया रेफर, वही एक मूकबधिर बच्चे को भेजा जाएगा डीआईसी

बालोद- कार्यभार ग्रहण करने के तत्काल बाद जिले के अंतिम छोर पर स्थित सुदूर वनांचल के ग्रामों का भ्रमण कर कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह ने यह बता दिया है कि उनकी पैनी नजर समाज के अंतिम पंक्ति के व्यक्ति तथा अंतिम छोर के गाॅवों तक है। और शायद इसी का नतीजा है कि कलेक्टर के निर्देशों का त्वरित अमल सम्बंधित विभाग द्वारा किया जा रहा हैं। डॉ. सिंह के निर्देश के बाद शनिवार को स्वास्थ्य विभाग ने डौंडीलोहारा के दूरस्थ ग्राम सुंदरनगर में स्वास्थ्य शिविर लगाकर ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। स्कूल में भी कैम्प लगाकर बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। 27 ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। जिसमें एक महिला ग्रामीण जमुना बाई का एचबी 7 ग्राम होने की वजह से उसे डौंडीलोहारा पीएचसी रेफर किया गया। वही एक मूकबधिर बच्चे को भी बालोंद जिला अस्पताल रेफर बनाकर उसे दुर्ग डीआईसी भेजा जाएगा। उल्लेखनीय हो कि कलेक्टर डॉ गौरव कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक जितेंद्र यादव, वनमण्डलाधिकारी आयुष जैन एवं अधिकारियों ने बुधवार 6 जून को छात्रावास में रात्रि विश्राम के पश्चात् सुबह हितापठार के समीपस्थ ग्राम सुंदरनगर पहुॅचकर ग्रामीणों के समस्याओं से वाकिफ होने जनचौपाल लगाया था। इस दौरान ग्रामीणों ने सड़क निर्माण, पूरे समय बिजली की उपलब्धता, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, गौठान निर्माण तथा राशन दुकान खोलने की माॅग की थी। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए कलेक्टर ने खाद्य निरीक्षक को शासकीय उचित मूल्य की दुकान सुंदरनगर से दूर होने के कारण गाॅव में समुचित रूप से राशन की आपुर्ति सुनिश्चित करने हेतु ट्रेक्टर एवं अन्य वाहनों के माध्यम से सुंदरनगर में राशन पहुॅचाने के निर्देश दिए हैं। डाॅ. सिंह ने जनपद पंचायत के सीईओ को सुंदरनगर में गौठान निर्माण हेतु तत्काल जमीन चिन्हित कर प्रस्ताव भेजने के निर्देश भी दिए हैं। इसके साथ ही रोजगार सहायक को सुंदरनगर में तत्काल रोजगारमूलक कार्य प्रारंभ करने के निर्देश भी दिए।

Spread the love