April 15, 2024

मितानिनों की सेवाओं की तुलना ईसाई मिशनरियों की सेवाओं से किए जाने पर जिला पंचायत सदस्य टिकेश्वर गबेल ने की निंदा

सक्ती– जांजगीर-चांपा जिला पंचायत के सदस्य टिकेश्वर गबेल ने क्षेत्र के कुछ जनप्रतिनिधियों द्वारा स्वस्थ पंचायत सम्मेलन में कही गई उन बातों पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए प्रेस विज्ञप्ति जारी कर निंदा की है, जिला पंचायत सदस्य टिकेश्वर गबेल ने कहा है कि कुछ जनप्रतिनिधियों द्वारा मितानिनो को ईसाई मिशनरियों से कम समर्पित काकर उनके द्वारा विगत कोविड-19 में की गई अमूल्य सेवाओं को भुला दिया गया, तथा मितानिनों ने पूरे प्रदेश में गांव एवं मजरा टोलो तक लोगों को कोरोना के संक्रमण से जागरूक करने शासन के दिशा- निर्देशों के परिपालन में सजगता के साथ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन किया, साथ ही मितानीने आज पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपना एक महत्वपूर्ण योगदान दे रही हैं, किंतु मितानिनों के इन अमूल्य योगदानो की तुलना ईसाई मिशनरियों की नर्सों से किया जाना अव्यावहारिक है, जिला पंचायत सदस्य टिकेश्वर गबेल ने कहा है कि मितानीने ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को मलेरिया, उल्टी-दस्त, निमोनिया से बचाव की दिशा में निरंतर सेवाएं देती है, तो वही गर्भवती महिलाओं का पंजीयन कराकर उन्हें स्वास्थ्य केंद्र तक पहुंचाने एवं उनका सुरक्षित प्रसव कराने की देखभाल में अपना योगदान देती हैं, एवं कोरोना काल मे मितानीनो ने अपनी जान- जोखिम में डालकर स्वयं को सुरक्षित रखते हुए लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव करवाया है, जिसके लिए इनकी सेवाएं अमूल्य है

Spread the love